इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

रविवार, 7 फ़रवरी 2010

दिल्ली ब्लोग्गर्स बैठक संपन्न ,राज भाटिया जी से यादगार मुलाकात (ब्लोग बैठक रपट नं 1)



लीजीए हमने वादा क्या था न कि दिल्ली ब्लोगर्स बैठक की सारी रपट और फ़ोटो आपके लिए लेकर आज हाजिर हो जाएंगे । तो लीजीए अभी सिर्फ़ पोस्टर देखिए और आने वाली फ़िल्म का इंतजार कीजीए । यकीन मानिए , कई मायनों आपको हमारी ही तरह ब्लोग्गर बैठकी की ये पूरी पिक्चर यादगार रहेगी । अभी तो आप सिर्फ़ तस्वीरों देख के मजा लीजीए । अभी प्रेस रीलीज़ में व्यस्त हूं इसलिए कुछ भी कह नहीं पा रहा हूं एक और पोस्टर देखिए ।
अभी के लिए इतना ही कि लगभग पैंतीस ब्लोग्गर्स आपस में अपने दिल मिलाने के लिए पहुंचे थे और सुबह के ११ बजे से लेकर शाम के चार बजे तक का समय कब बीत गया , पता ही नहीं चला ।
कहानी और डायलाग के लिए देखते रहिए , मिलते हैं एक ब्रेक के बाद ........


आप लोगों की शिकायत/उलाहना पर मैं एक और फ़ोटो लगा रहा हूं , मगर अब अगली पोस्ट तक प्रतीक्षा कीजीए , अगली में नाम / काम सब आपको पता चलेगा .................

48 टिप्‍पणियां:

  1. सुन्दर! फोटो देखकर अच्छा लगा!

    उत्तर देंहटाएं
  2. भाई साहब मैं सोच रहा था की सबसे पहले रिपोर्ट मेरा होगा पर बड़े भैया तो बड़े भैया ही निकले..वैसे जल्द ही हम भी आ रहे हैं रिपोर्ट लेकर....

    उत्तर देंहटाएं
  3. इतना लम्बा ब्रेक फिलम में भी न होत है।

    उत्तर देंहटाएं
  4. अरे अविनाश जी खड़े खड़े ही सो गए :)...विस्तृत रिपोर्ट की प्रतीक्षा रहेगी.

    उत्तर देंहटाएं
  5. अरे वाह!...बड़ी फुर्ती दिखाई आपने...

    उत्तर देंहटाएं
  6. मैं तो कब से इन्तेजार कर रही हूँ इस रिपोर्ट का

    उत्तर देंहटाएं
  7. सफल आयोजन पर बधाई।
    पर भाटिया जी को क्यूं छिपा रखा है? :)

    उत्तर देंहटाएं
  8. अजी हम कहां हैं.
    अच्छा अच्छा, याद आया. मैं लेट जो हो गया था.
    फिल्म के आखिर में आऊंगा एक सीन मे.

    उत्तर देंहटाएं
  9. सर जल्दी ही बहुत फ़ोटो लगेंगी , भाटिया जी को तो हमने यहीं नहीं दिल में भी छुपा लिया है । अभी तो ....जैसा मैंने कहा पिक्चर बांकी है

    उत्तर देंहटाएं
  10. मैं इतना पिछे क्यों अजय भईया , आपने भी सोचा कि जब मिथिलेश ने ब्लोगिंग ही छोड दी तो आगे काहे के लिए ।

    उत्तर देंहटाएं
  11. अभी ट्रेलर बताया और बाकि जल्दी बताइयेगा.....बहुत बढ़िया आरंभिक रपट...

    उत्तर देंहटाएं
  12. ट्रेलर देखकर फिल्म देखने की उत्सुकता बढ़ गई है, प्रतीक्षा कर रहे हैं अगले पोस्ट की।

    उत्तर देंहटाएं
  13. वाह हम घर पहुँचे भी नही आपकी ट्रेलर आ गयी.

    उत्तर देंहटाएं
  14. फोटो देखकर मन प्रफुल्लित हो गया.

    फोटो के नीचे नाम तो लिखिये ...बायें से दांये..१ पंक्ति, २ पंक्ति..जरा जान तो लिया जाये सबको. :)

    उत्तर देंहटाएं
  15. अरे बाप रे बाप सब कुछ दनादन, प्रभु रुकिए तो जरा सब होगा धीरे धीरे ,सभी आगे वाले पीछॆ और पीछे वाले आगे आएंगे , हिलेंगे डुलेंगे , और मिलेंगे

    उत्तर देंहटाएं
  16. शाम से बाहर था। आते ही रिपोर्ट देखी है। चित्र के लिफाफे से लगा कि मजमून जरूर हसीन होगा।

    उत्तर देंहटाएं
  17. मैं रोने कि सिवाय और क्या कर सकता हूँ.... अगली बार सुबह कि ट्रेन से रिज़ेर्वैशन नहीं करवाऊंगा.... ऊँ ऊँ ऊँ ऊँ ऊँ ऊँ ऊँ ऊँ ऊँ ऊँ .......... बहुत अच्छी लगी यह रपट....

    उत्तर देंहटाएं
  18. एक महीने की मेहनत बेकार हो गई......

    उत्तर देंहटाएं
  19. अचानक पिताजी का स्वास्थ्य खराब हो जाने के कारण मै ना आ पाया . कभी कभी लगता है समय ही सब कुछ होता है .खुशदीप भाई को बता दिया था आज सुबह ही

    उत्तर देंहटाएं
  20. अजय कुमार झा जी ! सफल आयोजन के लिए आयोजको को बधाई! सबसे बड़ी खबर हमारे बड़े भाईसाहब भाटिया जी की उपस्थिति उल्लेखनीय एवम दिल्ली ब्लोगर मिट के लिए मील का पत्थर साबित होगी. वैसे समीरजी ने लिखा है आपको, फोटू के निचे नाम लिख देते तो हमारे उत्सकता को थोड़ा विराम मिलता, किन्तु कोई बात नहीं आप दिल्ली वालो के आज के ब्लोगर मीट के उत्साह को हम समझते है. कोई बात नही अगली रिपोर्ट मे आप अम्पूर्ण जानकारी अवश्य प्रदान करे.
    Mahaveer B. Semlani

    उत्तर देंहटाएं
  21. क्षमा करे शब्द गलती के लिए
    अम्पूर्ण को सम्पूर्ण पढ़े

    उत्तर देंहटाएं
  22. मैंने भी सोचा की देखते है की लोग इस मीटिंग के बारे मैं क्या कहते है, पढ़ा तो कोई रो रहा है, कोई सोच रहा की मैं क्यों नहीं आया , कोई कुछ और कोई कुछ मगर सचमुच मजा आ गया। जानते तो सब एक दुसरे को थे मगर मिलना पहली बार हुआ। अजय जी आपको धन्यवाद्।

    उत्तर देंहटाएं
  23. बधाई तो उनको जिन्होंने पहुंच कर राज भाटिया जी का दिल रखा और मेरा तथा दिल्ली ब्लोग्गर्स का मान बढाया , और हां महावीर जी अभी तो रिपोर्टिंग शुरू भी नहीं हुई है , बहुत सारी बातें हैं कहने सुनने वाली धीरे धीरे कहूंगा/लिखूंगा अभी तो बस एक झलक भर है , कल समाचार पत्रों में छपी खबरें भी देखिएगा आप सब
    अजय कुमार झा

    उत्तर देंहटाएं
  24. जय जी मैने इस मीट को बहुत मिस किया बहुत अफसोस हुया नही जा सकने का। आप सब को बहुत बहुत बधाइ । ये क्रम चलता ही रहे।

    उत्तर देंहटाएं
  25. भाटिया जी छुप छुप के (कहाँ ) खड़े हो ? जरूर कोई बात है (किसके साथ कहाँ खड़े हो )
    कितने लोगों के साथ कितनी बार .

    उत्तर देंहटाएं
  26. झा जी , आपकी मेहनत रंग लाई। बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  27. @ उड़न तश्‍तरी


    नाम तो आपको बतलाने हैं

    चाहें दांये से बतलायें

    अथवा बांये से बतलायें

    पर बतलायें जरूर



    @ काजल कुमार


    खड़े खड़े सोना

    मतलब महंगे होते हुए

    सोने को सदा ही लूटते रहना



    @ महफूज अली


    अगली बार सुबह की ट्रेन के लिए

    शाम को स्‍टेशन चले जाना

    बल्कि हो सके तो

    एक दिन पहले ही दिल्‍ली
    पहुंच जाना


    होली से तो पहले वैसे भी एक दिन पहले ही पहुंचना होगा। रंगने और संगने के लिए ब्‍लॉगर रंग समारोह में।

    उत्तर देंहटाएं
  28. ये तो बहुत फ़ास्ट रिपोर्ट आगई. अब अगली मे नाम गांव सहित मिलवा दिजिये, इंतजार कर रहे हैं.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  29. रिपोर्ट भी फास्ट और कमेंट्स भी फास्ट.. हम ही स्लो रह गए.. :)

    बढ़िया है.. रपट भी जरी किया जाए जिससे हम जैसे ब्लॉगर मन ही मन कुढ़े.. :)

    उत्तर देंहटाएं
  30. बहुत अच्छी जानकारी। धन्यवाद।

    उत्तर देंहटाएं
  31. फोटो देखकर लालच हो आया .. मेरी बारी कब आएगी ??

    उत्तर देंहटाएं
  32. हम ज़रूर शामिल होते
    इसमें मगर पहले से पता नहीं था। हमारी छह को वापसी पक्की थी। अजय भाई और खुशदीप भाई का फोन नोएडा से नहीं लगा।

    बहरहाल, यह रपट अच्छी लगी। विस्तार से इंतजार है।

    उत्तर देंहटाएं
  33. बात निकलेगी तो फिर दूर तलक जाएगी

    परिचय चित्र जरूरी है

    उत्तर देंहटाएं
  34. itz great to know about the meet of this magnitude being organised in the capital and i being a Delhiite i congratulate for the same.

    उत्तर देंहटाएं
  35. ये पोस्ट डाल के आप दिल जला रहे हैं मेरा... चिढ़ा रहे हैं... और क्या...
    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  36. वाह!बहुत बढ़िया!
    मन प्रसन्न हुआ।

    इतनी देर से टिप्पणी करना, व्यस्तता की चुगली खुद ही कर रहा।

    चाहते हुए भी अपने न आ पाने पर, अफ़सोस है। दिल्ली आने के लिए करवाए गए तीन रिज़र्वेशन कैंसल करवाने पड़े हैं।

    अब तो केवल कसमसा सकता हूँ :-)

    खैर, अगली बार फिर कभी

    बी एस पाबला

    उत्तर देंहटाएं
  37. बधाई हो आप लोगों की मुलाकात ब्लाग परिवार की मज़बूती की दिशा मे मील का पत्थर साबित होगी।आप सभी लोगों से मिलने का ये मौका तो मैं चूक गया लेकिन कोशिश करूंगा कि अगली बार मौका न चूकूं।

    एक बार आप लोगों को बहुत-बहुत बधाई यूंही प्यार की गंगा बहती रहे,दिलों के मैल धुलते रहे,कौन जाने कब क्या हो,एक दूसरे से लोग यूंही मिलते रहे॥

    उत्तर देंहटाएं
  38. वाह भाई, कमाल कर दिखाया. शाम लगभग ६ बजे ही सूचना मिल गयी कि आपने तस्वीरें प्रकाशित कर दी हैं.
    अभी पहुंचा हूँ और नहाने धोने के बाद आपकी मेहनत का फल देख रहा हूँ. लौट तो आया मगर प्यास नहीं बुझी. आप सब के प्यार ने मुझे और मेरी आत्मा को क़ैद कर लिया है. सोचिए, जब 'बिन बुलाए' का यह हाल है तो आमंत्रित जन क्या महसूस कर रहे होंगे?

    उत्तर देंहटाएं
  39. लीजीए को लीजिए कर लीजिए ।

    उत्तर देंहटाएं
  40. Are Jha ji,
    kya report kiye hain..
    bahut hi badhiya..
    ekdam jhakaas...

    उत्तर देंहटाएं
  41. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  42. झा जी ने फोटो चिपकाकर धाबा बोल दिया है जी
    अगली बडी सी रिपोर्ट का रस्ता खोल दिया है जी
    मिलना जुलना तो जग मे सबको अच्छा लगता जी
    ब्लोगर का ब्लोगर से मिलना तो मनभावन होता जी

    १४.०२.२०१० को जोधपुर मे छोटा सा ब्लोगर मिलन करने हा रहे है और बिशेष अतिथि होगे कोटा से चलकर जोधपुर पधार रहे श्री दिनेश राय द्विवेदी जी.

    जो जोधपुर ब्लोगर मिलन मे आना चाहते है मेरे से सम्पर्क कर सकते है
    ९००१८९६०७९

    उत्तर देंहटाएं

मैंने तो जो कहना था कह दिया...और अब बारी आपकी है..जो भी लगे..बिलकुल स्पष्ट कहिये ..मैं आपको भी पढ़ना चाहता हूँ......और अपने लिखे को जानने के लिए आपकी प्रतिक्रियाओं से बेहतर और क्या हो सकता है भला

साथ चलने वाले

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...