इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

शनिवार, 1 नवंबर 2008

बा कहेंगी बाय बाय (क्यांकि सास भी कभी बहु थी को श्रधांजलि )

अजी भारतीय टेलीविजन जगत में इन दिनों बस यही ख़बर सब तरफ़ फ़ैली हुई है की बा , अजी अपनी बा, क्या भाई, वही सास भी कभी बहू थी, सदियों पुराना धारावाहिक , की बा, वो अब बाय बाय कहने जा रही हैं, और खाली बैठे न्यूज चैनेल ( जैसा की वे हमेशा रहते हैं ) इस पर तरह तरह की परिचर्चाएं आयोजित करवा रहे हैं, कुछ एक्सक्लूसिव खबरें भी आ रही हैं, मसलन कहीं बा भी दादा, अजी अपने सौरभ दादा के संन्यास से प्रेरित होकर तो ऐसा नहीं कर रही हैं, वैगेरह वैगेरह।
तो फायनली उन्होंने २०५ वर्षों की जिंदगी ( नहीं उनके उम्र के बारे में ये महज एक अंदाजा भर है , क्योंकि उनकी उम्र का ठीक ठीक आकलन करने के लिए लगाए गए गणितज्ञों ने इस काम से ये कह कर पीछा छुडा लिया की इससे आसान तो शेयर मारकाट के डूबने की वजह तलाशना है ) जीने के बाद अचानक इसे छोड़ने का मन बना लिया , वैसे उन्हें ऊपर बुलाने के लिए ख़ुद उनके पति , बापूजी को नीची आना पड़ा, जब उनसे पूछा गया इस बारे में तो उन्होंने कहा , अजीब हाल वहां ऊपर सारा रेकोर्ड, अपडेट कराये, सभी जगह की बुकिंग कराये हुए भी सालों बीत गए और बा का कहीं कोई इरादा न देख मुझे मजबूर होकर ऊपर से नीचे आना पड़ा।
वैसे इसके पीची और भी कुछ वजह बतायी जा रही है, उनका कहना है की जिस तुलसी के साथ उन्होंने ये सफर शुरू किया था उसमें उन्होंने अपने आंसुओं से इतना पानी डाला की अब वो तुलसी एक बरगद के पेड़ की तरह हो गयी है, सो उनका काम ख़त्म हुआ।
एक दूसरी बात ये सूनी जा रही है की बा आजकल बहुत कन्फ्यूज हो जाती हैं, उन्हें यही पता नहीं चलता की कौन किसी पत्नी है, किउन किसका बेटा, और किसका चक्कर किसके साथ चल रहा है, कई बार तो शूटिंग के दौरान उन्होंने भाई बेहें को ही दूधो नहाओ पूतो फलो का आशीर्वाद दे दिया, वैसे इसमें बा का क्या कसूर , जब दर्शकों को भी ये पता नहीं चल रहा है,
सुना तो ये भी गया है की, बा को बुढ़िया तुलसी का रोल ऑफर किया गया, कहा गया की तुलसी तो एक ऐसा किरदार बन गया है जो कोई भी कभी भी आ कर कर सकता है, मगर दिक्कत ये आयी की मिहिर जो दिन पर दिन जवान होते जा रहे हैं वे जब कभइन कभी गलती से अभी वाली तुलसी से आशीर्वाद ले लेते हैं तो बा के तुलसी बन्ने पर क्या कर लेंगे।
एक सबसे पुख्ता ख़बर ये भी है की शायद बा को नाच बुधिये , ओल्ड बॉस जैसे नए धारावाहिक में काम करने का ऑफर मिल रहा है,

अब इतनी सारी बातों के बीच से सच कौन सा है , ये तो वक्त ही बताएगा, मगर फिलहाल तो हकीकत यही है की बा हमें बाय बाय करने जा रही हैं, हमरी गुड विशेस उनके साथ हैं

6 टिप्‍पणियां:

  1. अच्छा है की वे ख़ुद ही बाय कह रही हैं वरना अब तो दर्शक ही उन्हें बाय कहने वाले थे...
    नीरज

    उत्तर देंहटाएं
  2. ये बहुत ही अच्छी बात है कि बा अपने आप जा रही है किसी दुसरे को तो जगह मिलेगी अब कुछ नया दिखे।

    उत्तर देंहटाएं
  3. chaliye achha hai ki aap sabko bhee ye theek lagtaa hai, magar afsos ki ektaa jee abhee ye nahin chaahtee unhone to adaalat mein jane kaa man bana liya hai, to kuchh din aur jheliye.padhne aur saraahne ke liye dhanyavaad.

    उत्तर देंहटाएं
  4. एक कंपनी के बदमिजाज सीनियर मैनेजर ने अपना तबादला करवा लिया, तो वहां के स्टाफ की लाटरी लग गयी। पर विदाई समारोह में तो हरेक की प्रशंसा करने का रिवाज होता है। तो सबने उसकी शान में एक से बढ़ कर कसीदे काढ़े। जिसे सुन अंत में मैनेजर ने कहा कि मुझे पता नहीं था कि आप लोग मुझे इतना चाहते हैं। सो मैं अपना निर्णय वापस लेता हूं।

    इसलिये अजय जी मेरी तो यह सलाह है कि अपन चुप-चाप, बिना चूं-चां किये बैठे रहें। ज्यादा खबरों में पा वापस ही ना आ जाये।

    उत्तर देंहटाएं
  5. ha ha ha, kya baat kahe jaise aap khud hain bilkul alag see baat keh dee aapne , dhanyavaad.

    उत्तर देंहटाएं

मैंने तो जो कहना था कह दिया...और अब बारी आपकी है..जो भी लगे..बिलकुल स्पष्ट कहिये ..मैं आपको भी पढ़ना चाहता हूँ......और अपने लिखे को जानने के लिए आपकी प्रतिक्रियाओं से बेहतर और क्या हो सकता है भला

साथ चलने वाले

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...