इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

रविवार, 16 नवंबर 2008

मुबारक हो , दुनिया के सर्वाधिक अमीरों की सूची, फोर्ब्स में एक ब्लॉगर भी

वाह, भाई, क्या धाँसू ख़बर आए आज तो, आखिरकार मेरा सपना सच हो ही गया, हाल ही में दुनिया के सर्वाधिक अमीरों की सूची जारी करने वाली पत्रिका , फोर्ब्स, ने जो सूची जारी की है, उसमें एक ब्लॉगर का भी नाम है। पहले तो एक ये बात मेरी समझ में नहीं आती कि, ये इन पत्रिका वालों को आख़िर दूसरे की कमी के बारे में पता कैसे चल जाता है, और वो भी बिल्कुल शत प्रतिशत, कमाल है मुझे आज तक अपना हिसाब किताब ठीक से समझ में नहीं आता। इस सूची में दुनिया भर के, एशिया के , भारत के , इस प्रकार से नाम दिए गए हैं, पता चला कि इसमें चौथे नंबर पर एयरटेल वाले भाईसाहब मित्तल बाबु का नाम भी है, मुझे खुशी हुए, कि धोखे से ही सही, कभी किसी डाऊनलोड के नाम पर , तो कभी रिंग टन के नाम पर हर महीने जो अंट शंट, पैसे वे काटते हैं उसका फल कहीं तो जा कर मिलता है, वरना क्या फायदा कि आदमी इतनी धोखाधड़ी भी करे और हाथ भी कुछ न लगे, खैर में तो ब्लॉगर की बात कर रहा था।

विश्वस्त सूत्रों , ( प्लीज सूत्रों के बारे में कभी ना पूछें ), से पता चला है कि , कुल सत्ताईस लाख पेज की इस किताब के आखिरी पन्ने पर और ९९७६९८४३२७६५६८०९८७७६८०६४४५७६८९७५९ वें स्थान पर हमारा अपने एक हिन्दी ब्लॉगर है । हाँ , हाँ मैं जानता हूँ कि आप सोच में पड़ गए होंगे कि आख़िर कौन है वो टैलेंटेड ब्लॉगर जिसने इतना प्रतिष्ठित स्थान हासिल किया, अब मैं अपने मुंह से अपना नाम कैसे लूँ समझ नहीं पा रहा हूँ, लेकिन लेना भी जरूरी है, वरना आप हमारे वरिष्ठ भाइयों के नाम से कन्फुज हो जायेंगे तो।
मुझे ये तो नहीं पता कि इस सूची में नाम आने के बाद किसी के ऊपर क्या फर्क पड़ता है, ये भी नहीं कि kahin इसके बाद मुझे सब्जी वाला सब कुछ सोने के भाव न देना शुरू कर दे, मगर फक्र तो होता ही है न। हाँ , हाँ मुझे मालूम है कि इसके बाद कुछ लोगों को, अनाम और बे नाम लोगों को ये शिकायत हो रही होगी कि हुंह ये क्या बात हुई आख़िर पेज पे इतने बाद नंबर आया है , उसे लेकर हाय तोबा क्यूँ मचाया जा रहा है, तो उन लोगों को मैं बता दूँ कि जब भी कोई व्यक्ति किसी भी किताब को उठाता है तो उसका पहला और आख़िरी पन्ना जरूज ही पढता है , तो जिसे, बिल गेट्स, का नाम पता होगा वो झा जी को जरूर ही जानता होगा, क्यों ठीक है न, एक और जरूरी बात ये कि इन कमबख्त बड़े लोगों, अरे जिनका नाम ऊपर है उन्हें तो हर वक्त अपने बोलीवुड के खानों की तरह अपने नंबर बढ़ने और काटने की चिंता लगी रहती है, एक हम ही हैं जिसे पता है कि चाहे जितनी तबदीली आ जाए अपना स्थान तो स्त्तेस लाखवें पेज पर फिक्स है ही।
तो बधाई हो मुझे भी और आप सबको भी आख़िर आप सबके बीच रह कर ही तो ये नामुमकिन काम मैं कर पाया वरना क्या मैं भी चाँद पर सायकल लेकर नहीं चला जाता।

मेरा अगला पन्ना :_ सेलेब्रिटी होते हैं ब्लॉगर , (आपको शक है क्या, मैं साबित कर दूंगा )

5 टिप्‍पणियां:

  1. Ajayji, aap bohot dinonse mere blogpe nahee aaye...Kya baat hai? Kya aapne "Ek baar phir Duvidhaki" kadiyan padhee?
    Aur hai...ek baat zaroor batanee hai...apne jo kuchh bhi kabhi ki tasveer lagayee hai usko maine apne fiber art me bana lee hai...kaash aapko dikha sakun...waise mere is artki kuchh pics mere doosare artwork ke blogpese nikalke aapko thodee bhej saktee hun...Bharat me mai akeli fiber artist hun.
    Ab blog padhne jaa rahee hun..

    उत्तर देंहटाएं
  2. आखिरी पन्ने पर और ९९७६९८४३२७६५६८०९८७७६८०६४४५७६८९७५९ वें स्थान पर aap ka naam aay hai--badhayee ho :D-
    aapचाँद पर सायकल लेकर bhi jayen koi aashcharya nahi hoga!:D itne ameer jo hain!

    उत्तर देंहटाएं
  3. अजय जी ,
    किताब को उल्टा करके पढने लगिए , तो आखिरी नहीं पहला पन्ना होगा । फ़िर कहते हैं ना अंत ही शुरुआत है । कल ऎसा भी दिन आएगा, जब हम पहले पन्ने पर देखेंगे आपको । हां चांद तक साइकल से जाने के लिए सडक ज़रुर बनवा दीजिएगा तब ,ताकि हम भी पहुंच सकें ।

    उत्तर देंहटाएं
  4. chaliye shukra hai ki aap logon ko mere forbs mein aane kee khushee to huee, lagtaa hai ki bahut logon ko jalan ho gayee hai ,dekhiye naa aye nahin badhai dene ab tak. shama jee, fiber art mein aapkee siddhastata ke baare mein jaan kar prabhaavit hua, ab aataa rahungaa, aur haan mujhe jo bhee bhejnaa chaahein to poochna kya , bhej daaliye. sareetha jee aur alpna jee, lagtaa hai ki chand par jaane ke liye do sawaariyan bhee taiyaar hain , dhanyavaad.

    उत्तर देंहटाएं
  5. aur haan , ek baat to kehnaa main bhool hee gaya ki is list mein aane ke baad income tax waalon ke fon aane shuroo ho gaye hain , lagtaa hai baat un tak bhee pahunch gayee, koi alok (puran wale, puranik jee ) ko bata de bhai.

    उत्तर देंहटाएं

मैंने तो जो कहना था कह दिया...और अब बारी आपकी है..जो भी लगे..बिलकुल स्पष्ट कहिये ..मैं आपको भी पढ़ना चाहता हूँ......और अपने लिखे को जानने के लिए आपकी प्रतिक्रियाओं से बेहतर और क्या हो सकता है भला

साथ चलने वाले

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...