इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

शनिवार, 15 मई 2010

गुर्राते हए आया चिचियाते हुए गया .......... हिंदी ब्लोग्गिंग वर्सेस अंग्रेजी ब्लोग्गिंग



बहुत से प्राणी जीव जंतु आजकल इसी ताक में रहते हैं कि कब हिंदी ब्लोग जगत में कोई उठापटक हो और वे अपनी सारी नोक्सी लगा कर पिल पडें । और जैसे बारिश की बूंदों के पडते ही कई टाईप के बायोलोजिकल और हर्बल से कीटाणु सक्रिय हो जाते हैं वैसे ही यहां भी कुछ कुछ ऐसे ही हालात हो जाते हैं , मगर इस बार तो हद ही हो गई । जैसे ही लौग इन किया वैसे ही एक गुर्राहत सुनाई दी ..सकपका कर देखा ..सोचने लगा यार ..वो बाघों के कम होने पर एक पोस्ट मैंने भी लिखी 1411 लगा के ..कहीं उसी के असर से कोई जनगणना में छूटा बाघ तो नहीं आ गया ..अपना रोल नंबर लिखवाने ...मैं तो कहने भी वाला था जा बे निकल यहां से पहले अपनी जाति वाति फ़ायनल कर अब तो बेटा डेमोक्रेसी विद कास्टिंग काऊंट ....( वो कास्टिंग काऊच की तर्ज़ पर ) हो रहा है यहां । अब चाहे गुर्राओ या हिनहिनाओ ....बेटा बिना जाति के कुछ नहीं होने वाला । मगर गौर से देखा तो नथुने फ़ुलाता ....एक अंग्रेजी ब्लोग दिखा ...।

मैं और भी हैरान परेशान हो गया । क्यों बे ....आज इधर कैसे ...बेटा तुम लोग तो कभी हिंदी ब्लोग की तरफ़ आते भी नहीं हो ..अबे हम तो अक्सर चर्चा वर्चा के बहाने तुम्हारी कुछ बातें भी कर लिया करते हैं मगर तुम बेशर्मों कभी एक कौमा फ़ुलस्टौप भी नहीं .....आज कैसे भई ..और ये क्या तुम्हारा लीडर कहां है ..मेरा मतलब वरिष्ठ ब्लोग्गर भाई ..पुराना ब्लोग ....अबे तुम लोग तो काफ़ी पहले से लिख रहे हो न ....कोई डायनासोर है क्या ब्लोग्गिंग में ...मेरा मतलब पुरना इतना तो होगा ही न ...? अबे कुछ बोलत अकों नहीं है बे ...।

वो भडक गया ...अबे चुप होगा तो बोलूंगा न ....आज तो मुझे आना ही पडा ..एक तो यार जब भी तुम लोगों का कोई लफ़डा शफ़डा होता है ..तुम लोग हम लोगों का नाम लेने लगते हो ..तो मुझे आना ही पडा । हमारे यहां कोई वरिष्ठ या छोटा नहीं होता , हम कौन सा तुम्हारी हबीबगंज से करीबगंज तक ही हैं ...हम तो जाने कहां कहां के हैं । आज तो मैं बताने ही आया हूं कि अंग्रेजी ब्लोग्गिंग के आगे हिंदी ब्लोग्गिंग कुछ नहीं है ..कुछ भी नहीं भाई ...।

अब भडकने की बारी मेरी थी ...और जाहिर है कि मैं अपनी बारी के बिना भडकता तो गुड मैनर्स नहीं होते न .....सो मैंने भडक कर कहा तो चल हो जाए एक ट्वेंटी ट्वेंटी ...मैच करवा लें क्या । अबे हमारे पास नाईस टिप्पणी है । अंग्रेजी वाला बोला ..अबे वो तो हमारा शब्द है । हमने कहा ..बेटा ये कहो कि कभी हुआ करता था ...अब तो हिंदी ब्लोग्गिं का हो लिया ये ...तुम कोई दूसरा ढूंढ लो ....न हो तो अंग्रेजी में ..achha hai .....लिखा करो । अबे हमारे पास ऐसी ऐसी पोस्टें हैं जिनमें सैकडों टिप्पणियां हैं ....अंग्रेजी वाला बोला ..आयं सच में ..हमारे पास तो सैकडों ब्लोग और पोस्टें हैं जहां एक भी टिप्पणी नहीं है । अबे हमारे पास ब्लोगवाणी है ....अंग्रेजी वाला बोला ..हमारे पास तो हजारों एग्रीगेटर्स हैं ..अब किसका नाम लूं । अबे जाओ बे ..फ़ि तुम्हें क्या पता ...हौट , पसंद, नापसंद , ....आदि का ..महत्व कितना होता है ब्लोग्गिंग में ..कभी कभी तो बस इसी का महत्व रह जाता है ..ब्लोग्गिंग का कम हो जाता है । हमारे पास चिट्ठाचर्चा नामक एक संयंत्र है ..इसके माध्यम से अलग अलग रिएक्टरों से परमाणु हमला किया जाता है .....अबे बडी मारक क्षमता है इसकी ...एक तो हमारा अपना भी है ..मगर उसके cell जरा कमजोर हैं सो असर जरा कम होता है उसका ।


अब मैंने देखा कि वो बेचारा हमारे ताबडतोड वार से घबरा गया था हमने सोचा कि अब तो फ़ायनल स्ट्रोक मार ही दिया जाए । सुन बे ..एक काम कर तू अपने में से दस बीस छांट ला ...धुरंधर ..इधर हमारी तरफ़ से भी कुछ मैं भेजता हूं ....देखते हैं कि कौन जीतता है ..20-20 में .....। उसने डरते डरते पूछा ..किसे भेजोगे ....ये तो बताओ .....हमने कहा ..हू..हा ..हा ..हा हा...........बेटा यही तो संस्पेंस है ....। और दिमाग में नाम घूम रहे रहे .....ढपोरशंख ...जलजला..भूतनी...घटोत्कच ......हू हा हा हा ...कच्चा चबा जाएंगे सब के सब ..अंग्रेजी ब्लोगिंग को ।....वो जो गुर्राते हुए आया था ...चिचियाते हुए ..भाग लिया । ...हम गा रहे थे ...

टैण टैनेन ..टैने नेन टैने नेन........

27 टिप्‍पणियां:

  1. देखा! एक पोस्ट ने कितना भूचाल मचाया है। ब्लागीरों के लिए महिनों लिखने का साधन हो गया।

    उत्तर देंहटाएं
  2. वो जो गुर्राते हुए आया था ...चिचियाते हुए ..भाग लिया । ...हम गा रहे थे ...

    टैण टैनेन ..टैने नेन टैने नेन........

    हा हा हा हा हा
    चिचियाने की आवाज अभी तक आ रही है।
    जरा गौर करें, बहुतै चिचिया रहा है,पैट्रोल बाकी है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. हां!
    गिरीश भैया का कुछ पता चले तो
    खबर किजिएगा
    राम राम

    उत्तर देंहटाएं
  4. वाह जी महाराज! कमाल की पोस्ट! पोस्ट एक लक्ष्य अनेक। सुन्दर! बधाई भी।

    उत्तर देंहटाएं
  5. कितना सुरीला गाते है आप !!!! एसन ही गा गा के भागा दीजिये सब को सच में बहुतै चिचिया रहा है !!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  6. अजय भैया,
    बढ़िया आइडिया है...अंग्रेज़न लोगवा से भिड़ने से पहले बेनामी पठ्ठों का दमखम चेक कर लिया जाना चाहिए...क्यों न पहले बेनामी इलेवन और नामी इलेवन के बीच ट्वेंटी-ट्वेंटी प्रैक्टिस मैच करा लिया जाए...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  7. ढपोरशंख, जलजला , दूध का जला छाछ का जला , भूत भूतनी , बहुत सारे नये नये लोगो से आपने साक्षात्कार करवाया ..धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं
  8. टैण टैनेन ..टैने नेन टैने नेन......

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत मजेदार पर परमाणु रिएक्टर पुराना हो गया है ... हा हा हा

    उत्तर देंहटाएं
  10. हमने कहा ..हू..हा ..हा ..हा हा...........बेटा यही तो संस्पेंस है ....। और दिमाग में नाम घूम रहे रहे .....ढपोरशंख ...जलजला..भूतनी...घटोत्कच ......हू हा हा हा ...कच्चा चबा जाएंगे सब के सब ..अंग्रेजी ब्लोगिंग को ।....वो जो गुर्राते हुए आया था ...चिचियाते हुए ..भाग लिया

    हा हा हा ट्रिन ट्रिन ट्रेन

    उत्तर देंहटाएं
  11. मजेदार व्यंग ! देखिये आज एक को अब जाकर चेलहाई संभालने की सुधि आयी है ....बिचारे फिर से डेरा तम्बू गाड़ रहे हैं ..जाईये देख आईये न !

    उत्तर देंहटाएं
  12. अंग्रेजी ब्लोग की क्या औकात है? कुछ दिनों में तो हम ब्लोगिंग पर 'मेड इन इंडिया' का लेबल लगा देंगे और दुनिया को बता देंगे कि ब्लोगिंग की शुरुवात ही हिन्दी से हुई है।

    उत्तर देंहटाएं
  13. मजा आगया पढ़ कर .......बहुत बढ़िया व्यंग्य .

    उत्तर देंहटाएं
  14. हा हा हा ! कमाल का व्यंग लिखे हैं झा जी ।
    सब कुछ कह डाला ।
    निर्भीक।

    उत्तर देंहटाएं
  15. हा हा हा

    हू हा हा हा ...कच्चा चबा जाएंगे सब के सब ..अंग्रेजी ब्लोगिंग को ।....वो जो गुर्राते हुए आया था ...चिचियाते हुए ..भाग लिया । ...हम गा रहे थे ...

    टैण टैनेन ..टैने नेन टैने नेन........

    हा हा हा

    उत्तर देंहटाएं
  16. आपने अच्छा लिखा है। इस घटनाक्रम से अंग्रेजी छल्ले के चमचे भी बहुत ज्यादा दुखी है। भाइयों के मुंह से आवाज नहीं निकल पा रही है।

    उत्तर देंहटाएं
  17. .....ढपोरशंख ...जलजला..भूतनी...घटोत्कच ......हू हा हा हा ...कच्चा चबा जाएंगे सब के सब ..अंग्रेजी ब्लोगिंग को ...

    .... सटीक ... लाजवाब .... बहुत खूब !!!

    उत्तर देंहटाएं
  18. महिलाओं में श्रेष्ठ ब्लागर कौन- जीतिए 21 हजार के इनाम
    पोस्ट लिखने वाले को भी मिलेगी 11 हजार की नगद राशि
    आप सबने श्रेष्ठ महिला ब्लागर कौन है, जैसे विषय को लेकर गंभीरता दिखाई है. उसका शुक्रिया. आप सबको जलजला की तरफ से एक फिर आदाब. नमस्कार.
    मैं अपने बारे में बता दूं कि मैं कुमार जलजला के नाम से लिखता-पढ़ता हूं. खुदा की इनायत है कि शायरी का शौक है. यह प्रतियोगिता इसलिए नहीं रखी जा रही है कि किसी की अवमानना हो. इसका मुख्य लक्ष्य ही यही है कि किसी भी श्रेष्ठ ब्लागर का चयन उसकी रचना के आधार पर ही हो. पुऱूषों की कैटेगिरी में यह चयन हो चुका है. आप सबने मिलकर समीरलाल समीर को श्रेष्ठ पुरूष ब्लागर घोषित कर दिया है. अब महिला ब्लागरों की बारी है. यदि आपको यह प्रतियोगिता ठीक नहीं लगती है तो किसी भी क्षण इसे बंद किया जा सकता है. और यदि आपमें से कुछ लोग इसमें रूचि दिखाते हैं तो यह प्रतियोगिता प्रारंभ रहेगी.
    सुश्री शैल मंजूषा अदा जी ने इस प्रतियोगिता को लेकर एक पोस्ट लगाई है. उन्होंने कुछ नाम भी सुझाए हैं। वयोवृद्ध अवस्था की वजह से उन्होंने अपने आपको प्रतियोगिता से दूर रखना भी चाहा है. उनके आग्रह को मानते हुए सभी नाम शामिल कर लिए हैं। जो नाम शामिल किए गए हैं उनकी सूची नीचे दी गई है.
    आपको सिर्फ इतना करना है कि अपने-अपने ब्लाग पर निम्नलिखित महिला ब्लागरों किसी एक पोस्ट पर लगभग ढाई सौ शब्दों में अपने विचार प्रकट करने हैं। रचना के गुण क्या है। रचना क्यों अच्छी लगी और उसकी शैली-कसावट कैसी है जैसा उल्लेख करें तो सोने में सुहागा.
    नियम व शर्ते-
    1 प्रतियोगिता में किसी भी महिला ब्लागर की कविता-कहानी, लेख, गीत, गजल पर संक्षिप्त विचार प्रकट किए जा सकते हैं
    2- कोई भी विचार किसी की अवमानना के नजरिए से लिखा जाएगा तो उसे प्रतियोगिता में शामिल नहीं किया जाएगा
    3- प्रतियोगिता में पुरूष एवं महिला ब्लागर सामान रूप से हिस्सा ले सकते हैं
    4-किस महिला ब्लागर ने श्रेष्ठ लेखन किया है इसका आंकलन करने के लिए ब्लागरों की एक कमेटी का गठन किया जा चुका है. नियमों व शर्तों के कारण नाम फिलहाल गोपनीय रखा गया है.
    5-जिस ब्लागर पर अच्छी पोस्ट लिखी जाएगी, पोस्ट लिखने वाले को 11 हजार रूपए का नगद इनाम दिया जाएगा
    6-निर्णायकों की राय व पोस्ट लेखकों की राय को महत्व देने के बाद श्रेष्ठ महिला ब्लागर को 21 हजार का नगद इनाम व शाल श्रीफल दिया जाएगा.
    7-निर्णायकों का निर्णय अंतिम होगा.
    8-किसी भी विवाद की दशा में न्याय क्षेत्र कानपुर होगा.
    9- सर्वश्रेष्ठ महिला ब्लागर एवं पोस्ट लेखक को आयोजित समारोह में भाग लेने के लिए आने-जाने का मार्ग व्यय भी दिया जाएगा.
    10-पोस्ट लेखकों को अपनी पोस्ट के ऊपर- मेरी नजर में सर्वश्रेष्ठ ब्लागर अनिवार्य रूप से लिखना होगा
    ब्लागरों की सुविधा के लिए जिन महिला ब्लागरों का नाम शामिल किया गया है उनके नाम इस प्रकार है-
    1-फिरदौस 2- रचना 3-वंदना 4-संगीता पुरी 5-अल्पना वर्मा- 6 –सुजाता चोखेर 7- पूर्णिमा बर्मन 8-कविता वाचक्वनी 9-रशिम प्रभा 10- घुघूती बासूती 11-कंचनबाला 12-शेफाली पांडेय 13- रंजना भाटिया 14 श्रद्धा जैन 15- रंजना 16- लावण्यम 17- पारूल 18- निर्मला कपिला 19 शोभना चौरे 20- सीमा गुप्ता 21-वाणी गीत 21- संगीता स्वरूप 22-शिखाजी 23 –रशिम रविजा 24- पारूल पुखराज 25- अर्चना 26- डिम्पल मल्होत्रा, 27-अजीत गुप्ता 28-श्रीमती कुमार.
    तो फिर देर किस बात की. प्रतियोगिता में हिस्सेदारी दर्ज कीजिए और बता दीजिए नारी किसी से कम नहीं है। प्रतियोगिता में भाग लेने की अंतिम तारीख 30 मई तय की गई है.
    और हां निर्णायकों की घोषणा आयोजन के एक दिन पहले कर दी जाएगी.
    इसी दिन कुमार जलजला का नया ब्लाग भी प्रकट होगा. भाले की नोंक पर.
    आप सबको शुभकामनाएं.
    आशा है आप सब विषय को सकारात्मक रूप देते हुए अपनी ऊर्जा सही दिशा में लगाएंगे.
    सबका हमदर्द
    कुमार जलजला

    उत्तर देंहटाएं
  19. महिलाओं में श्रेष्ठ ब्लागर कौन- जीतिए 21 हजार के इनाम
    पोस्ट लिखने वाले को भी मिलेगी 11 हजार की नगद राशि
    आप सबने श्रेष्ठ महिला ब्लागर कौन है, जैसे विषय को लेकर गंभीरता दिखाई है. उसका शुक्रिया. आप सबको जलजला की तरफ से एक फिर आदाब. नमस्कार.
    मैं अपने बारे में बता दूं कि मैं कुमार जलजला के नाम से लिखता-पढ़ता हूं. खुदा की इनायत है कि शायरी का शौक है. यह प्रतियोगिता इसलिए नहीं रखी जा रही है कि किसी की अवमानना हो. इसका मुख्य लक्ष्य ही यही है कि किसी भी श्रेष्ठ ब्लागर का चयन उसकी रचना के आधार पर ही हो. पुऱूषों की कैटेगिरी में यह चयन हो चुका है. आप सबने मिलकर समीरलाल समीर को श्रेष्ठ पुरूष ब्लागर घोषित कर दिया है. अब महिला ब्लागरों की बारी है. यदि आपको यह प्रतियोगिता ठीक नहीं लगती है तो किसी भी क्षण इसे बंद किया जा सकता है. और यदि आपमें से कुछ लोग इसमें रूचि दिखाते हैं तो यह प्रतियोगिता प्रारंभ रहेगी.
    सुश्री शैल मंजूषा अदा जी ने इस प्रतियोगिता को लेकर एक पोस्ट लगाई है. उन्होंने कुछ नाम भी सुझाए हैं। वयोवृद्ध अवस्था की वजह से उन्होंने अपने आपको प्रतियोगिता से दूर रखना भी चाहा है. उनके आग्रह को मानते हुए सभी नाम शामिल कर लिए हैं। जो नाम शामिल किए गए हैं उनकी सूची नीचे दी गई है.
    आपको सिर्फ इतना करना है कि अपने-अपने ब्लाग पर निम्नलिखित महिला ब्लागरों किसी एक पोस्ट पर लगभग ढाई सौ शब्दों में अपने विचार प्रकट करने हैं। रचना के गुण क्या है। रचना क्यों अच्छी लगी और उसकी शैली-कसावट कैसी है जैसा उल्लेख करें तो सोने में सुहागा.
    नियम व शर्ते-
    1 प्रतियोगिता में किसी भी महिला ब्लागर की कविता-कहानी, लेख, गीत, गजल पर संक्षिप्त विचार प्रकट किए जा सकते हैं
    2- कोई भी विचार किसी की अवमानना के नजरिए से लिखा जाएगा तो उसे प्रतियोगिता में शामिल नहीं किया जाएगा
    3- प्रतियोगिता में पुरूष एवं महिला ब्लागर सामान रूप से हिस्सा ले सकते हैं
    4-किस महिला ब्लागर ने श्रेष्ठ लेखन किया है इसका आंकलन करने के लिए ब्लागरों की एक कमेटी का गठन किया जा चुका है. नियमों व शर्तों के कारण नाम फिलहाल गोपनीय रखा गया है.
    5-जिस ब्लागर पर अच्छी पोस्ट लिखी जाएगी, पोस्ट लिखने वाले को 11 हजार रूपए का नगद इनाम दिया जाएगा
    6-निर्णायकों की राय व पोस्ट लेखकों की राय को महत्व देने के बाद श्रेष्ठ महिला ब्लागर को 21 हजार का नगद इनाम व शाल श्रीफल दिया जाएगा.
    7-निर्णायकों का निर्णय अंतिम होगा.
    8-किसी भी विवाद की दशा में न्याय क्षेत्र कानपुर होगा.
    9- सर्वश्रेष्ठ महिला ब्लागर एवं पोस्ट लेखक को आयोजित समारोह में भाग लेने के लिए आने-जाने का मार्ग व्यय भी दिया जाएगा.
    10-पोस्ट लेखकों को अपनी पोस्ट के ऊपर- मेरी नजर में सर्वश्रेष्ठ ब्लागर अनिवार्य रूप से लिखना होगा
    ब्लागरों की सुविधा के लिए जिन महिला ब्लागरों का नाम शामिल किया गया है उनके नाम इस प्रकार है-
    1-फिरदौस 2- रचना 3-वंदना 4-संगीता पुरी 5-अल्पना वर्मा- 6 –सुजाता चोखेर 7- पूर्णिमा बर्मन 8-कविता वाचक्वनी 9-रशिम प्रभा 10- घुघूती बासूती 11-कंचनबाला 12-शेफाली पांडेय 13- रंजना भाटिया 14 श्रद्धा जैन 15- रंजना 16- लावण्यम 17- पारूल 18- निर्मला कपिला 19 शोभना चौरे 20- सीमा गुप्ता 21-वाणी गीत 21- संगीता स्वरूप 22-शिखाजी 23 –रशिम रविजा 24- पारूल पुखराज 25- अर्चना 26- डिम्पल मल्होत्रा, 27-अजीत गुप्ता 28-श्रीमती कुमार.
    तो फिर देर किस बात की. प्रतियोगिता में हिस्सेदारी दर्ज कीजिए और बता दीजिए नारी किसी से कम नहीं है। प्रतियोगिता में भाग लेने की अंतिम तारीख 30 मई तय की गई है.
    और हां निर्णायकों की घोषणा आयोजन के एक दिन पहले कर दी जाएगी.
    इसी दिन कुमार जलजला का नया ब्लाग भी प्रकट होगा. भाले की नोंक पर.
    आप सबको शुभकामनाएं.
    आशा है आप सब विषय को सकारात्मक रूप देते हुए अपनी ऊर्जा सही दिशा में लगाएंगे.
    सबका हमदर्द
    कुमार जलजला

    उत्तर देंहटाएं

मैंने तो जो कहना था कह दिया...और अब बारी आपकी है..जो भी लगे..बिलकुल स्पष्ट कहिये ..मैं आपको भी पढ़ना चाहता हूँ......और अपने लिखे को जानने के लिए आपकी प्रतिक्रियाओं से बेहतर और क्या हो सकता है भला

साथ चलने वाले

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...