इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

रविवार, 3 अप्रैल 2011

ये जश्न का समय है ..हम मना रहे हैं आप भी मनाइए .....बधाई हो ..हम विश्च चैंपियन हैं

महसूस करिए इसकी चमक अपने भीतर , इसका अहसास और गर्व से सीना फ़ुलाईये
ये हैं हमारे रणबांकुरे ..भारत के सपूत ..सलाम इन्हें देश की सवा अरब लोगों का


और ये बंटी मिठाइयां

अंतिम क्षण


ये आया जश्न का समय

क्या सडक , क्या गली ..आज सब जश्नमय है जी



आतिशबाजी

धूम धडाका


चमचमाता आसमान






आन तिरंगा है शान तिरंगा है , मेरी जान तिरंगा है










ढोल बजने लगा , रंग जमने लगा ..कोई लौट के आया है




तो मनाईए आप भी जश्न ..झूमिए गाईए कि ..ये जश्न का समय है ..जश्न ही जश्न ..बधाई हो जी बधाई हो आप सबको .हम .आप आज विश्व चैंपियन हैं .....कोई शक ..ये तो बस एक शुरूआत है जी

16 टिप्‍पणियां:

  1. भारत कैसे हार सकता था भला...

    मैदान में रजनीकांत मौजूद थे....

    और मुझे ये एसएमएस भी मिला था...

    Team India had taken the cue after Dolly Bindra has threatened to do a Poonam Pandey act if they don't win the cup...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बहुत बधाईयाँ सबको....

    उत्तर देंहटाएं
  3. बधाई हो जी बधाई,
    देश की एकता के जज्बे नेखुश कर दिया हैभाई.
    क्रिकेटतो एक बहाना है,आगे अभी बहुत दूर जानाहै,
    हर छेत्र में भारत का परचम लहराना है,भारत को महान बनाना है.
    धोनी के रणबांकुरों ने जो एकजुटता का जज्बा दिखाया,उसको सारे देश में फैलाना है.
    हिंदू,मुस्लिम ,सिक्ख ,इसाई सब मिल जश्न मना रहें हैं भाई.
    प्रभु से यही प्रार्थना है,यह एकता का जज्बा सदा सलामत रहे भाई.

    उत्तर देंहटाएं
  4. सभी की आशाओं पर खरी उतरी टीम इंडिया और सभी देशवासियों को बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  5. हर छोटे-बड़े शहर का यही हाल था। सभी को बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  6. लगता है , सारी रात सड़क पर खूब मज़े किये ।
    विश्व कप में भारत की जीत पर आप सबको ढेरों बधाइयाँ ।
    ट्रूली , वी आर द चैम्प्स ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. आपको बहुत -बहुत बधाई --
    मेरे ब्लोक पर भी आकर बधाई ग्रहण करे ?

    उत्तर देंहटाएं
  8. बधाई॥ पर सोचो... हार जाते तो क्या होता... सोचो कभी ऐसा हो तो क्या हो :) क्षणिक वैराग्य की तरह है यह जीत। कल सभी अपने अपने गंम में डूबे रहेंगे :)

    उत्तर देंहटाएं
  9. पर सोचो... हार जाते तो क्या होता.....

    आजी काहे सोचें ..अब सोचने का काम ऑस्ट्रेलिया , पाकिस्तान और श्रीलंका को करना चाहिए ..

    रही बात हमारी तो हम जब गणित के " मान लिया कि " को आज तक नहीं मान सके तो अब कईसे सोच लें

    उत्तर देंहटाएं
  10. 28 वर्षों के बाद देश को आज मिले विश्व कप के लिये सभी बधाई के पात्र हैं। "जोश भी हो जश्न भी हो जिद्द हो जीतने की जंग"

    उत्तर देंहटाएं

मैंने तो जो कहना था कह दिया...और अब बारी आपकी है..जो भी लगे..बिलकुल स्पष्ट कहिये ..मैं आपको भी पढ़ना चाहता हूँ......और अपने लिखे को जानने के लिए आपकी प्रतिक्रियाओं से बेहतर और क्या हो सकता है भला

साथ चलने वाले

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...